Skip navigation

पानी पर लिखे हे सारे उजाले हे इसी सुबह में,
कोई भी हँसी भाती नही जब तू हे किसी विरह में…

अनंतता में ढूंडता में एक छोटा सा पल,
जो हँसाए तुझे और दूर कर ये अन्धकार छल…
मेरी आशाये बस घूम रही हे अधर में,
कोई भी हंसी भाति नही जब तू हे किसी विरह में…

आकाश, जल, हवा और धरा खंड,
आँख, प्यास, साँस अब हर कदम हे बंद…
क्यों अँधेरा सा हो रहा हे सहर में,
कोई भी हंसी भाति नही जब तू हे किसी विरह में…

मनीष चौपडा_

Advertisements

15 Comments

  1. Wah saab!!!!!!!!!1

  2. excellent ladke, keep it up 🙂
    keep sending such type of works!!!!!

  3. excellent…

  4. Good one!

  5. Goooooooooooooood !!! kahan se dhapa hai???

  6. Hmmm… Impressive !!

  7. कुछ तो भी यार ..मुझे नही पता था तेरा ये talent…keep it up!

    लेकिन हिन्दी मैं लिखना चाहिए हिन्दी कविता . use this link – http://www.google.com/transliterate/indic

    time मिले तो मेरे blog को भी कृतज्ञ करना.

  8. Jai hoooo !!!!

  9. kaviraaj
    kahan the ab tak

  10. wah mere kavi!!!!!!!!!!!!!!!!!
    sab thik thak to he na 🙂 🙂

    • Rahul P. Shukla
    • Posted September 11, 2008 at 4:29 am
    • Permalink
    • Reply

    हम्म… अच्छा लगा जान के की कविताये भी लिखते हो .. अगली बार से हिन्दी की कविताये हिन्दी में ही पोस्ट करना … एक अलग इफेक्ट आता हैं .

  11. sahi likha hai bhai….achcha laga pad kar……!!!

  12. Thanks All 🙂

  13. kya baat hai! tujhme ye talent bhi hai ab pta chala 🙂
    keep writing! 🙂

  14. आकाश, जल, हवा और धरा खंड,
    आँख, प्यास, साँस अब हर कदम हे बंद…
    क्यों अँधेरा सा हो रहा हे सहर में,
    कोई भी हंसी भाति नही जब तू हे किसी विरह में…

    ” so touching thoughts, beautifull word sellection”

    Regards


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: