Skip navigation

महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़ महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़,
कभी तुच्छता कभी अनंतता कभी विविधताओ की नदी सराबोर….
महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़ महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़|

धरती के गर्भ में फ़िर कुछ नया हे,
कल जो शिखर था आज खो गया हे!
में चलता रहा नई दिशा में हर तरफ़,
कदम दिशा विहीन मन् दिशाहिन् हो गया हे|

सिमटे मेरे प्रयत्न्न और फेले हुए विकल्प चारो और!
महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़ महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़,
कभी तुच्छता कभी अनंतता कभी विविधताओ की नदी सराबोर|

जन्म  मृत्यु  से परे हे,
चाहे दोनों समकक्ष खड़े हे,
चाहे कई विपदाये आए,
पर महत्वाकंक्छाओ के पंख बड़े हे|

सोच, स्वप्न, यथार्थ सब हे कमजोर!
महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़ महत्वाकंक्छाओ की अबोध दौड़,
कभी तुच्छता कभी अनंतता कभी विविधताओ की नदी सराबोर|

Advertisements

14 Comments

  1. cool one ………
    bit hard to understand but ultimately got it

  2. Acchi hey !! , per aam logon ke liye bhi likho!

  3. good one!

  4. gr8 work ..!!!!! 🙂
    pata nahi tha aap etna acha poem likhta hey????

  5. bahot sahi hai…………….

    janma mruti se pare hai..
    chahe dono samksha khade hai…
    chahe kai vipadaaye aaye…
    par mahatwakaankshaye ke pankh bade hai

  6. really very good

  7. wakai me cheeze samajh se pare hai 🙂

    I dont get how joshi got it when there was nothing to get…

  8. Tapadia . .joshi can get anything, he can make sense out of a blank page on which nothing is written ! Chopra ne to hindi ki dictionary likh mari !

  9. After long time i read such ‘shudh’ hindi… Good one manish.. didnt knew you are a poet !

  10. fundoo.

    इस पर निदा फाजली की एक ग़ज़ल याद आ गई –
    “दुनिया जिसे कहते है जादू का खिलौना है
    मिल जाए तो मिटटी है खो जाए तो सोना है”

  11. Sahi Line he Yaar 🙂

    Sampada

  12. Rathi Ji, Thoda bahut likh lete he bas…

  13. जन्म मृत्यु से परे हे,
    चाहे दोनों समकक्ष खड़े हे,
    चाहे कई विपदाये आए,
    पर महत्वाकंक्छाओ के पंख बड़े हे|

    “wonderful thoughts, mind blowing”
    Regards

  14. Hey nice poem man.. though i must say “Mujhe jyada samhaj nahi aayi”
    paruntu shabdo kaa upyog aacha hai “.
    Best of luck.


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: